इलायची के फायदे और रोगों में प्रयोग

इसके सदैव हरे रहने वाले पौधे अदरक के पौधे जैसे होते है और वे प्रायः ऐसे ही स्थानों में होते है , जहां की जमीम तर और छायादार होती …

इमली के फायदे और घरेलु उपचार में इमली का उपयोग

इमली कच्ची इमली – अति खट्टी, भारी, गरम, रुचिकारक, मलरोधक, अग्निदीपक, वातनाशक, कफपित्तकारक, आंत्र-संकोचक, रक्तदूषक, आमकारक, विदाही है तथा वात और शूल रोग में पथ्य है पकी इमली – …

आम के फायदे और रोगों में प्रयोग

  आम सर्वप्रिय फल है। सब कोई इसे बड़े प्रेम से खाते हैं और इसे सब फलों में श्रेष्ठ मानते है। इसीलिए इसको नृपप्रिय, फलश्रेष्ठ , फलाविराज कहते है। …

चिरचिरा के फायदे और रोगों में प्रयोग

श्वेत और लाल दोनों प्रकार के अपामार्ग की जरियां पत्तों के डंठल के मध्य प्रदेश से निकलते है। वे दीर्घ , कर्कश, कटीली सी होती है। इसमें ही सूक्ष्म …

तुलसी के फायदे और रोगो में उपयोग

‘तुलसी’ शब्द की विश्लेषण करने पर ज्ञात होता है की जिस वनस्पति की किसी से तुलना की जा सके, वह तुलसी है। तुलसी को हिन्दू धर्म में जगत जननी …

सेब खाने के फायदे और रोगो में प्रयोग

सेब का सेवन करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है। सेब का सेवन करने वाले व्यक्ति के शरीर में भरपूर उत्साह रहता है। सेब का सेवन सभी को करना …

प्याज के औषधीय गुण | प्याज खाने के फायदे

प्याज हमारे किचन का एक मुख्य आहार है। प्याज सब्जी और सलाद के रूप में इसका उपयोग किया जाता है। प्याज के बिना हमारे भोजन, साग, सब्जी और सलाद …

नींबू के फायदे और गुण तथा घरेलू नुस्खे

नींबू औषधीय गुणों का खजाना है नींबू में पाया जाने वाला फास्फोरस शरीर में नए तन्तुओं के विकास में सहायक होता है। नींबू रक्त को शुद्ध करने का काम …

लहसुन करता है रामबाण का काम, ये 7 फायदे नहीं जानते होंगे आप

लहसुन का प्रयोग हमारे घरों में मसालों के रूप में किया जाता है। लहसुन में बहुत गुण होता है। लहसुन रोगनाशक है, लहसुन में जितना रोग नाश करने की …

तुलसी के फायदे और बेहतरीन औषधीय गुण

तुलसी का पौधा सदाहरित होता है अर्थात सदैव हरा भरा जाता है। साधारणता मार्च से जून तक इसे लगाते हैं सितम्बर तथा अक्टूबर में यह फूलता है। सारा  पौधा …