Categories
स्वास्थ्य

घड़े के पानी पीने के फायदे ! मटके का पानी पीने के फायदे

घड़े के पानी पीने के फायदे

ghade ka pani pine ke fayde, matke ke pani ke fayde, matke ke pani peene ke fayde, घड़े के पानी पीने के फायदे, मटके का पानी पीने के फायदे

घड़े के पानी पीने के फायदे – सदियों से हमारे घरो में पानी रखने के लिए घड़े का इस्तेमाल किया जाता है। आज भी बहुत से भारतीय लोग घड़े का पानी पीना पसंद करते है। घड़े का पानी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। मटके का पानी फ्रीज के पानी से कई गुना ज्यादा लाभदायक है। मटके के पानी को अमृत कहा गया है। जी हां अगर हम इसके स्वास्थ्य लाभ की ओर देखे तो सचमुच घड़े का पानी अमृत है। मटके के पानी के एक नही अनेको फायदे है। इस लेख में हम आपको बताने जा रहे है मटके का पानी पीने के जबरदस्त फायदे जिसे जानकर आप घड़े का पानी पीना शुरू कर देंगे।

1.- गला ठीक रखे

जब हम बाहर से घर आते है तो हमे तुरंत फ्रीज का पानी पीने की इच्छा होती है। गर्मियों में हमलोग गटागट फ्रीज का पानी पीते है। लेकिन फ्रीज का पानी गले के लिए नुकसानदेह है। फ्रीज के पानी का तापमान बहुत कम रहता है जो हमारे शरीर के तापमान के अनुकूल नही होता है। फ्रीज का पानी बहुत ठंडा होता है जिसे पीने से गला खराब हो जाता है। जबकि मटके का पानी ज्यादा ठंडा नही रहता है। इसलिए मटके का पानी पीने से गला खराब नही होता है। मटके का पानी गले के लिए फायदेमंद रहता है।

2.- गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद

गर्भवती महिलाओं को फ्रीज का पानी नही पीना चाहिए। डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को फ्रीज का पानी पीने से मना करता है। गर्भवती को मटके का पानी पीना चाहिए। मटके का पानी न केवल गर्भवती महिलाओं के लिए बल्कि गर्भस्थ शिशु को भी फायदा पहुंचाता है। गर्भवती स्त्रियों को मटके का पानी पीने की सलाह देना चाहिए।

3.- सर्दी-जुकाम से राहत

मटके में पानी को रखने से पानी नेचुरल रूप से ठंडा होता है। घड़े में पानी वातावरण के हिसाब से ठंडा होता है। इसलिए यह पानी शरीर को नुकसान नही करता है। जबकि फ्रीज में पानी बिजली से ठंडा होता है, इसलिये फ्रीज का पानी पीने से शरीर का तापमान असामान्य हो जाता है। शरीर का तापमान असामान्य होने से एलर्जी, सर्दी, जुकाम जैसी समस्या हो जाती है।

4.- रोगों से बचाव

आधुनिक युग में कुछ लोग ही मटके का पानी पीते है। लोग जैसे जैसे प्राकृतिक चीजों से दूर होते जा रहे है वैसे वैसे व्याधियों के शिकार होते जा रहे है। पहले जमाने में अधिकतर लोग मटके का पानी पीते थे और पानी को ठंडा करने के लिए मिट्टी के घड़े का प्रयोग करते है। इसलिए पहले लोगों को उतना सर्दी, जुकाम, एलर्जी, गले की परेशानी या अन्य रोग नही होते थे। लेकिन आजकल की बात करें तो लोग फ्रीज का पानी पीते है जिसके परिणाम यह होता है कि लोगों को बहुत जल्दी सर्दी जुकाम हो जाता है। शरीर को स्वस्थ रखने में 60% शुद्ध पानी का योगदान होता है। आप जितना शुद्ध पानी पियेंगे उतना स्वस्थ रहेंगे। इसलिए मेरी सलाह है कि फ्रीज के पानी को छोड़कर घड़े का पानी पीना शुरू कर दें, आगे आपकी मर्जी।

5.- पानी के विषैले तत्वों से बचाव

आजकल बढ़ते प्रदूषण के कारण जल भी प्रदूषित हो रहा है। प्रदूषित जल में कुछ विषैले तत्व आ जाते है। अगर आप मिट्टी के घड़े में पानी को रखकर पीते है तो पानी के विषैले तत्व से आप बच जाते है। मिट्टी का घड़ा पानी के विषैले तत्व को अवशोषित कर लेता है क्योंकि मिट्टी में शुद्धि करने का गुण होता है। इसलिए अगर आप शुद्ध पानी पीना चाहते है तो सदैव मिट्टी के घड़े में ही पानी को रखकर पियें। दोस्तों जल ही जीवन है इसलिए आप जितना शुद्ध पानी पिएंगे आपके शरीर के लिए उतना फायदेमंद रहेगा।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल या कोई विचार है तो निचे Comment Box में लिखें। दोस्तों अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया है तो Facebook और Whatsapp पर जरूर शेयर करें। धन्यवाद

Other Similar Posts यह भी पढ़े

फ्रिज का पानी पीने के नुकसान – Cold Water Disadvantages

ज्यादा कसरत के नुकसान ! ज्यादा सप्लीमेंट्स लेने के नुकसान

चश्मा हटाने और आँखों की रोशनी बढ़ाने के 10 आसान उपाय

Sigret pine ke nuksan ! सिगरेट पीने के 10 नुकसान

सिगरेट छोड़ने के 20 अचूक तरीके